PCOD Treatment/PCOS Treatment आयुर्वेदिक उपचार हिंदी में

1
747
PCOS Treatment

Post Contents

PCOD TREATMENT In Detail is Discussed Here.

PCOD का उपचार कैसे क्या है ?

PCOD treatment in Hindi?

Friends, हमने पिछले article में जाना कि PCOD क्या है, इसके लक्षण और निदान के बारे में।आइये, आज के article में हम बात करेंगे कि PCOD के रोगी का उपचार कैसे कर सकते हैं?


उससे पहले एक और question आता है कि PCOD यानी Polycystic Ovarian Disease और PCOS यानी के Polycystic Ovarian Syndrome  में क्या फर्क है ?

Difference Between PCOD and PCOS


Friends, जब हम जब हमें Ultrasound Finding में cyst  दिखाई देने लगती हैं तो उसे  Polycystic Ovarian Disease कहा जाता है!

और जब उन Cysts के कारण शरीर में Hormonal Imbalance  हो जाता है और वह बड़े हुए लेवल Biochemical Test  में आने लगते हैं  तक इससे Polycystic Ovarian Syndrome  कहा जाता है।

PCOD के कारण हमने पिछले आर्टिकल में डिटेल में डिस्कस किए हैं आइए अब जानते हैं कि हम हम पेशेंट को कैसे डायग्नोज करते हैं कि उसको पीसीओडी का प्रॉब्लम है या नहीं!

Read Also, PCOD/PolyCystic Ovarian Diseases का कारण, लक्षण और निदान

How To Diagnose Patient Of PCOD?


*ज्यादातर पेशेंट हमारे पास आते हैं Delayed  पीरियड्स के कारण जिसमें कि 35 दिन या उससे ज्यादा का गैप होता है पीरियड्स आने में। इसमें एक साल में लगभग 9 बार ही पीरियड्स आते हैं 12 बार आने की बजाएं।

*वेट गेन की problem/Weight Gain

*Next प्रॉब्लम लेकर आ सकता है पेशेंट, हेयर ग्रोथ ऑन फेस।


इनमें से पेशेंट को सभी Symptoms एक साथ भी हो सकते हैं और इनमें से सिर्फ एक ही हो सकता है।


इस हिस्ट्री के आधार पर हमें अल्ट्रासाउंड से पता लगत! हैं, साथ ही बायोकेमिकल टेस्ट से हार्मोन लेवल्स का पता करके डिजीज का पता लगता है!


PCOD में बेसिक पैथोलॉजी क्या होती है ?

इसमें ओवरी में eggs तो बनते हैं लेकिन उनमें से कोई भी मैं mature  नहीं होता है और वह rupture हो जाते हैं और जिससे water filled cyst की formation होती है और ओवरी की Polycystic Appearance आ जाती है।


आइए अब जानते हैं कि अगर पेशेंट इन symptoms को ignore करता है तो उसे क्या प्रोब्लेम्स हो सकती हैं?


अगर लंबे समय तक Patient का PCOD Treatment या Diagnose नहीं होता है तो Ovulation नहीं होती है और Conception होने में मुश्किल हो सकती है जो Infertility या बांझपन का कारण बनती है प्रेगनेंसी नहीं होती है।


साथ ही इसमे Hormonal Imbalance होता है जिससे पेशेंट के शरीर में male type के हार्मोन बढ़ जाते हैं और Female type के हार्मोन कम हो जाते हैं जिससे कि मेटाबॉलिज्म डिस्टर्ब हो जाता है और साथ ही long run में abnormal uterine bleeding होती है, और पेशेंट का uterine cancer होने के chance भी बढ़ जाते हैं।


पेशेंट को कैसे treat कर सकते हैं?
Line of Treatment/PCOD Treatment


*कोई भी PCOD treatment शुरू करने से पहले पेशेंट की lifestyle मोडिफिकेशन के लिए councelling करना बहुत जरूरी है जिसमे exercise का बहुत महत्व है।
प्रतिदिन 30 से 45 मिनट की एक्सरसाइज, चाहे वह वाकिंग हो, योगा or डांसिंग, जो भी patient को suit करे, करना बहुत जरूरी है।


*वेट मैनेजमेंट
अपनी height के हिसाब से weightmaintain करना बहुत जरूरी है, क्योंकि अगर body में fat कम होगा तो, Polycystic Ovaries के bad effect कम होंगे और complications होने का डर भी कम होगा।

PCOD को पूरी तरह से ठीक करना काफी Difficult है। PCOD के Treatment संबंधी अधिक जानकारी इस प्रकार है :

1.दवाएं/Medicine :

इसमें दो तरह से PCOD treatment किया जा सकता है।
Ovaries को stimulate करके या ovaries को stress करके।


अगर patient की concieve करने की age है तो, ovaries को stimulate किया जाता है! दवाओं से ओवरी में ovulation induction कर Pregnancy में मदद की जा सकती है।

और unmarried स्टेज में, ओवरीज को stress किया जाता है।
इसके लिए contraceptive पिल्स और बहुत सी hormonal therapies से, पीरियड्स को रेगुलर करने का try किया जाता है,

साथ ही बाकी लक्षणों जैसे कि, hair ग्रोथ, acne आदि का उपचार भी किया जाता है। अगर आप मुंहासो/Acne के लिए Treatment लें तो अपने Doctor को PCOD होने की जानकारी अवश्य दे।

2.वजन कम करना/Weight loss :

अगर आपका Weight बढ़ा हुआ है तो उसे कम करने का Try करे। कई PCOD के मरीजों में केवल Weight कम करने से ही बेहद फायदा होते देखा गया है।

3.व्यायाम/Exercise :

व्यायाम करने से आपका Weight Control में रहेगा और PCOD की वजह से होने वाली insulin resistance की problem भी कम हो जाएंगी। आप अपने age और body capability केअनुसार चलना, Jogging, Swimming या aerobic व्यायाम कर सकते है।

4.संतुलित आहार/Balanced Diet) :

खाने में Pizza, बर्गर जैसे शरीर के लिए Unhealthy आहार लेने की जगह हरे पत्तेदार सब्जी और Fruits का इस्तेमाल करें।

5.जीवनशैली/Good Lifestyle) :

6.Stress

बढ़ाने वाली चीजो से दूर रहे। Multitasking न करें। योग और प्राणायाम करे। हमेशा Positive विचार रखे।

7.शल्यक्रिया/Surgery :

जरुरत पड़ने पर PCOD के Treatment में शल्य क्रिया या Surgery भी की जाती है, जिसे Laproscopic Ovarian Drilling (LOD) या Laparoscopic Electrocauterisation of Ovarian Stroma (LEOS) कहते हैं। इस Operation में Laser या Cautery से Ovary के cyst में hole किया जाता है।

Read Also,खीरा/ Cucumber खाने के बाद पानी पीना चाह‍िए या नहीं, जान‍िए सच Scientifically

आयुर्वेद: PCOD TREATMENT

PCOD के उपचार के लिए आप आयुर्वेद का सहारा ले सकते हैं। PCOD के ऐसे कई Cases है जो 6 months से लेकर 1 year तक आयुर्वेद Treatment से पूर्ण रुप से ठीक हो जाते है और Successfully Pregnancy का सुख भी प्राप्त कर सकते हैं।

PCOD: Ayurveda कैसे help कर सकता है?

आयुर्वेद के अनुसार PCOD का कारण पित्त या कफ दोष के Imbalance से होता है।

ऊपर दिए गए कारणों से बढ़े हुए पित्त या कफ दोष रक्त धातु /Tissues, या blood और Plasma को दूषित करते हैं।

इससे शरीर में आम/ toxins बनते हैं।

PCOD के patient में ये आम रस या toxins, mind के चैनल्स में जाकर इक्कठे हो जाते हैं, और pitutary ग्लैंड से निकलने वाले हॉर्मोन्स में असंतुलन कर देते हैं।

इससे female हॉर्मोन्स का अंसतुलन हो जाता है और Ovarian cyst बनने लगती है।

PCOD के Treatment के लिये हर्बल औषधियां

PCOD के Treatment के लिए अशोक छाल, दशमूल, शिलाजीत, शतावरी, गुडुची, हरीतकी, अश्वगंधा, जम्बू, यशद भस्म, देवदारु आदि अनेक आयुर्वेदिक औषधि का Use किया जाता हैं।

1.शतावरी or Asparagus Racemosus

यह मुख्य रूप OvarianFollicles के Normal विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है। यह महिला में periods को नियंत्रित करता है।

Reproductive system को revitalize krta hai. ये Hormonal Control शतावरी में पाए जाने वाले Estrogens और phyto estrogens के कारण होता है।

2.गुडूची

गुडूची एक शक्तिशाली Anti inflammatory Herb है। हम जानते हैं कि शरीर के tissues में Chronic Inflammation, महिलाओं में इंसुलिन Imbalance और Ovarian Cyst का मूल कारण है।

यह Herb शरीर के Tissues को Revitalize करने और इंसुलिन प्रतिरोध को कम करने में मदद करती है।शतपुष्पा or Fennel

3.शतपुष्पा या सौंफ

सौंफ़ के बीज को Supplement के रूप में उपयोग किया जाता है क्योंकि इसमें मौजूद फाइटोएस्ट्रोजेन Inflammation को कम करते हैं और इंसुलिन प्रतिरोध को नियंत्रित करते हैं।

4.त्रिफला

त्रिफला विटामिन सी में समृद्ध है जो कि एक शक्तिशाली प्राकृतिक एंटीऑक्सिडेंट है, जो फ्री रेडिकल्स को कम करके Inflammation को कम करने में मदद करता है।

इसलिए यह औषध Cleansing और डिटॉक्सीफाइंग सिस्टम के लिए अच्छी होती है और इसलिए इसे किसी भी अन्य आयुर्वेदिक दवाओं को लेने से पहले लिया जाता है।

5.एलो वेरा- कुमारी (Aloe Barbadensis)

Alo Vera एक और आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो PCOD के इलाज में बेहद फायदेमंद है क्योंकि यह मासिक धर्म चक्र को नियमित करने और सामान्य मासिक धर्म को बढ़ावा देने में मदद करता है। यह Hormonal Imbalance को भी सामान्य करता है।

6.गुग्गुल: कमिफ़ोरा मुकुल Commiphora mukul

इस जड़ी बूटी में कोशिकाओं को पुनर्जीवित करने की क्षमता होती है और यह किसी व्यक्ति को फिर से जीवंत कर सकती है। 

गुग्गुल  में ऐसे भी गुण होते हैं जो लिपिड production  को balance करने और किसी व्यक्ति के रक्त में iron के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है।  यह वजन घटाने और metabolism को बढ़ाने में भी मदद करता है।

7.शिलाजीत: Asfaltum


आयुर्वेदिक जड़ी बूटी  शिलाजीत stamina और शारीरिक और मानसिक तनाव से निपटने की क्षमता में सुधार करता है।  

8.आमलकी: Emblica officinalis


ये कोशिकाओं को फिर से जीवंत करने और free radicals  से छुटकारा पाने की अपनी क्षमता के लिए जाना जाता है।  यह immunity को बढ़ावा देने में भी मदद करता है, स्वस्थ त्वचा के विकास में सहायक होता है और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करता है। 

Amalaki पाचन क्रिया में मदद करता है और liver के समुचित कार्य को बनाए रखने के साथ चयापचय को बढ़ाता है।

किस Patient में कितने मात्रा में कौन सी औषधि का उपयोग करना है यह केवल एक Ayurvedic Doctor ही रोगी की जांच कर तय कर सकते हैं। 

9.विटामिन और मिनरल्स:

कुछ विटामिन और खनिज प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं और abnormal cells जैसे कि Cysts को नष्ट करने की क्षमता रखते हैं।

a.विटामिन बी कॉम्प्लेक्स (Vitamin B Complex)

ये अत्यधिक एस्ट्रोजन को कम कमजोर रूपों में परिवर्तित करने में मदद करता है और इसलिए हार्मोन के स्तर को संतुलित करता है।

b.जिंक (Zinc)

Ovarian cyst को रोकने में मदद करता है, शरीर को free radicals  से छुटकारा पाने में मदद करता है और normal cell growth में हेल्प करता है।

c.विटामिन A और E (Vitamin A & E)

ये एंटीऑक्सिडेंट कोशिकाओं के damage और abnormal changes के खिलाफ कोशिकाओं की रक्षा करते हैं।  

d.विटामिन सी (Vitamin C)

ये immunity  को बढ़ाने में मदद करता है और शरीर को बीमारियों और संक्रमणों से लड़ने की क्षमता देता है। 

योग :

PCOD में योग करने भी Useful होते हैं।

PCOD Treatment के liye Patient को नीचे दिए हुए योग!सन करने चाहिए।

सूर्यनमस्कार

धनुरासन

शलभासन

मत्स्यासन

चक्रासन

सर्वांगासन

मत्स्यासन

PCOD से पीड़ित Females में Diabetes, Hypertension और Cancer होने का खतरा रहता है। जल्द उपचार करने से PCOD के Complications से बचाव किया जा सकता है।

so, हमेशा ध्यान रखें कि आप एक हेल्दी डाइट लें और अपना एक हेल्दी weight maintain करें और जितना एक्टिव  रह सकते हो उतना एक्टिव रहें ताकि आप Polycystic Ovarian Disease  के  कॉम्प्लिकेशन से बचे रह सकें।


आर्टिकल पसन्द आया हो तो friends के साथ शेयर करें।अगले article में हम PCOD की Diet के बारे में बात करेंगे।

You can check the following links

For Memory Increase, Brain Function Boost Up and to lower High Blood Pressure

For Fat Decimator System, A Weight Loss Program http://bit.ly/BrandNewWeightLossFormula

For Better Sleep Naturally and for High Blood Pressur

For Digestive Supplement Probiotic

For Anti-Ageing Formula

For Type 2 Diabetes and Weight Loss http://bit.ly/Halkidiabetesremedy

For 12 Day Yoga Challenge

You Can MAIL ME AT [email protected]

SUBSCRIBE MY CHANNEL BY CLICKING BELOW http://bit.ly/MyChannelAyurvedGuide

VISIT MY HEALTH WEBSITE https://www.ayurvedguide.com

FOLLOW ME ON MY FACEBOOK PAGEhttps://www.facebook.com/drseemagupta8

FOLLOW ME ON INSTAGRAMhttps://www.instagram.com/seemagupta43

FOLLOW ME ON TWITTER https://twitter.com/GuptaDrseema

FOLLOW ME ON LINKEDIN https://www.linkedin.com/in/drseema-g…

FOLLOW ME ON PINTEREST https://in.pinterest.com/ayurvedguide

FOLLOW ME ON REDDIT https://www.reddit.com/user/seemadr50


Also, you can check the following links

For Memory Increase, Brain Function Boost Up and to lower High Blood Pressure http://bit.ly/BrainPil

For Decimator System, A Weight Loss Program http://bit.ly/BrandNewWeightLossFormula

For Better Sleep Naturally and for High Blood Pressure http://bit.ly/Remvital

For Digestive Supplement Probiotic http://bit.ly/ProbioticT-50

For Anti-Ageing Formula http://bit.ly/GenF2Plus

For Type 2 Diabetes and Weight Loss http://bit.ly/Halkidiabetesremedy

For 12 Day Yoga Challenge http://bit.ly/ChallengeYoga-Burn

You Can MAIL ME AT [email protected]

SUBSCRIBE MY YOUTUBE CHANNEL BY CLICKING BELOW http://bit.ly/MyChannelAyurvedGuide

VISIT MY HEALTH WEBSITE https://www.ayurvedguide.com

FOLLOW ME ON MY FACEBOOK PAGE https://www.facebook.com/drseemagupta8

FOLLOW ME ON INSTAGRAM https://www.instagram.com/seemagupta43

FOLLOW ME ON TWITTER

https://twitter.com/GuptaDrseema

FOLLOW ME ON LINKEDIN

https://www.linkedin.com/in/drseema-g…

FOLLOW ME ON PINTEREST https://in.pinterest.com/ayurvedguide FOLLOW ME ON REDDIT

https://www.reddit.com/user/seemadr50

MAIL ME ON MY YAHOO ID [email protected]

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here