Ayurveda Health Care – आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने के बाद न करें ये काम

Post Contents

- Advertisement -

Ayurveda Health Care – आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने के बाद न करें ये काम हो सकती है कई बीमारियां

अच्छा भोजन (Food) अच्छे स्वास्थ्य (Health) और लंबे जीवन की कुंजी है। इसलिए अपने आप को सेहतमंद (Healthy) रखने के लिए ज्यादातर लोग बाहर के भोजन को छोड़कर ज्यादा से ज्यादा घर से बना हुआ खाना खाने (Homemade) की कोशिश करते हैं।

आपने देखा होगा कि कई लोग मांस (Non-Veg), शराब (Alcohol), धूम्रपान (Smoking) तथा तंबाकू (Tobacco) जैसी चीजों का बिल्कुल भी सेवन नहीं करते और हमेशा घर का सादा भोजन ही करते हैं। लेकिन बावजूद इसके वह अपने शरीर से जुड़ी किसी न किसी समस्या कमजोरिया (Weakness

Advertisement
) और बीमारी (Disease) से परेशान रहते हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि जाने अनजाने में वह भोजन करने से जुड़े नियमों (Rules) का पालन नहीं कर रहे होते। खाना खाने से पहले या खाना खाने के बाद किए जाने वाले काम या Activities हमारी सेहत (Health) को बहुत ज्यादा प्रभावित करती हैं।

क्योंकि यही चीजें निर्धारित करती है कि खाए गए भोजन (Food) का हमारी सेहत पर कितना और कैसा असर होगा।

- Advertisement -

हम सभी सुनते आ रहे हैं कि घर पर बना भोजन पौष्टिक होता है। फल (Fruits), सब्जियां (Vegetables),  दूध (Milk) हमें कई तरह के पोषक तत्व (Nutrients) प्रदान करते हैं। लेकिन आजकल हर दो में से एक व्यक्ति के शरीर में खून (Blood) में, विटामिन (Vitamin), आयरन (Iron) और कैल्शियम (Calcium) जैसे कई पोषक तत्वो की कमी पाई जाती है।

क्योंकि कई लोग खाना खाने के बाद कुछ ऐसी गलती (Mistakes) या कार्य करते हैं। जिनसे ना तो भोजन ठीक से पचता (Digest) है और ना ही उसमें मौजूद पोषक तत्व (Nutrients) हमें पूरी तरह से मिल पाते हैं।

इतना ही नहीं कुछ गलतियां तो इतनी खतरनाक होती है। जो कि सीधे शरीर में कई गंभीर एलर्जी (Allergy), कमजोरी (Weakness) और कभी ना ठीक होने वाली बीमारियों (Diseases) को धीरे-धीरे जन्म देती रहती है।

Ayurveda Health

हमारे शरीर के लिए जितना जरूरी भोजन (Food) है उससे कई ज्यादा जरूरी इससे जुड़े नियम (Rules) हैं।  अगर आप इन आसान नियमों को ध्यान में रखते हैं। तो हेल्थ (Health) से जुड़ी कई तरह की समस्याएं और बीमारियों और दवाओं (Medicines) से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है।

- Advertisement -

मोटापा (Obesity), एसिडिटी (Acidity), यूरिक (Uric Acid), अर्थराइटिस (Arthritis) ,आंखों की कमजोरी,बालों का झड़ना या पकना, अस्थमा (Asthma), फेफड़ों की कमजोरी, माइग्रेन (Migraine) की समस्या,रात को नींद ना आना (Insomnia),डायबिटीज तथा दिल की बीमारियां (Heart Disease) और यहां तक कि यौन कमजोरी जैसी सभी समस्याएं भी खाना खाने से जुड़ी कुछ साधारण गलतियों से हो सकती हैं।

आइए जानते हैं कि खाना खाने के बाद (After eating) किए जाने वाले कुछ ऐसे काम और गलतियों के बारे में जिन्हें आज ज्यादातर लोग कर रहे हैं।  जिन्हें हमें जल्द से जल्द बंद कर देना चाहिए।

Namak – हानिकारक सफ़ेद नमक छोड़े, स्वाद के लिए आजमाएं ये 3 सेहतमंद चीजें

आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने के बाद न करें ये काम 

1.लेटना और सोना – Sleeping

अक्सर पेट भर के खाना खाने के बाद (Eating) लेटने और आराम करने का मन करता है।अगर  देखा जाए तो खाना खाने के बाद नींद (Sleep) भी बहुत अच्छी आती है।

लेकिन भोजन के सही तरह से Digestion के लिए शरीर का सीधी मुद्रा में होना सबसे बेहतर होता है। क्योंकि भोजन शरीर में ऊपर से नीचे की तरफ Travel यानी की यात्रा करता है।

- Advertisement -

लेटने पर या सोने पर भोजन के पचने की गति धीमी (Slow)  हो जाती है और भोजन तथा उसे पचाने वाले एसिड (Digestive Juice) नीचे जाने की जगह कई बार ऊपर भी आने लगते हैं।

Digestive Problems

ऐसे में छाती में जलन, एसिडिटी (Acidity), ब्लोटिंग (Bloating), अपचन और खट्टी डकारे, पेट में अल्सर (Ulcer) और आंतों में सड़न आदि जैसी बीमारियां होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

किसी भी व्यक्ति को एक बार जब पाचन (Digestive System) से जुड़े रोग हो जाते हैं। तो यह समस्या शरीर के सभी अंगों को प्रभावित करती है। धीरे-धीरे नई-नई बीमारियां शरीर में पैदा होती रहती है।

खाना खाने के तुरंत बाद दाएं या बाएं में किसी भी मुद्रा में लेटने से शरीर का वजन (Weight) बढ़ता ही है। इसलिए खाना खाने या सोने या लेटने के बीच में कम से कम एक से दो घंटे का अंतराल (Gap) जरूर रखें।

2. मीठी चीनी से बनी चीजें खाना – Sweet Dish

अक्सर मसालेदार या चटपटे भोजन के बाद मीठी चीजें (Sweet Dish) खाने में ज्यादा आनंद आता है। कई लोग रोजाना रात को खाने के बाद (After Dinner) कुछ ना कुछ मीठा जरूर खाते हैं।

हालांकि खाने के बाद गुड (Gud) , मिश्री, खांड या फलों के रस (Fruit Juice) से बनी मीठी चीजें खाने में कोई समस्या नहीं है। समस्या है चीनी (White Sugar) और उस से बनी हुई चीजों में। क्योंकि चीनी (Sugar) मिठास का सबसे हानिकारक स्त्रोत (Source) होता है।

Effects

इसका जो सबसे पहला नुकसान है। वह है हाई ग्लूकोस (glucose) और हाई कैलरी (calorie)। हम भोजन में अनाज, दालें और सब्जियों (Vegetables)  का सेवन करते हैं। जिसमें पहले से ही ग्लूकोज (Glucose) पर्याप्त मात्रा में होता है।

खाने के बाद चीनी से बनी चीजें शरीर में शुगर की मात्रा को (Sugar Levels) तेजी से बढ़ा देती है। जिससे कि मोटापा (Obesity), पेट और कमर के हिस्सों में चर्बी जमा होने से डायबिटीज (Diabetes) और किडनी (Kidney) से जुड़ी बीमारियां होने की संभावना समय के साथ-साथ बढ़ती जाती है।

चीनी को बनाने में (Refined Sugar) बहुत सारे केमिकल का इस्तेमाल होता है। जिससे चीनी एसिडिक (Acidic) हो जाती है। खाने के बाद चीनी से बनी मीठी चीजें भोजन को ठीक तरह से पचने नहीं देती और साथ ही साथ खून (Blood) और यूरिन (Urine) में भी एसिड की मात्रा को बढ़ाती है। हमेशा मीठा किसी दूसरे समय पर खाये।

3. खाने के तुरंत बाद पैदल चलना – Walking

कुछ लोग मानते हैं कि खाने के तुरंत बाद वह पैदल चलना (Walking) या रनिंग (Running) करना अच्छा होता है। इससे भोजन भी ठीक तरह से पचता (Digest)m है। वैसे खाने के बाद 100 कदम चलने की बात सही तो है। लेकिन खाने के तुरंत बाद चलना सेहत (Health) पर बुरा असर डालता है।

खाना पचाने की प्रक्रिया के दौरान हमारे पाचन तंत्र में तेज ब्लड फ्लो (Blood Circulation) की जरूरत होती है। जब हम खाने के तुरंत बाद पैदल चलना (Walking) शुरू कर देते हैं। तो ब्लड फ्लो हमारे पाचन की जगह हमारे हाथ पैर और दूसरे सभी अंगों (Body Parts) में तेज हो जाता है।

Insomnia Cure – नींद नहीं आने पर सबसे असरदार घरेलू उपाय

ऐसे में पाचन प्रक्रिया (Digestion) तेज होने की जगह धीमी पड़ जाती है और इससे कई बार घबराहट (Giddiness) भी हो सकती है। पैदल चलने का शरीर और पाचन प्रकिया पर सही तरह से असर हो।  इसलिए भोजन करने के कम से कम बाद आधे घंटे (Half an hour) बाद ही पैदल चलना शुरू करें।

4. चाय और कॉफी पीना – Tea – Coffee

चाय और काफी में टैनिक (Tannin) और कैफीन (Caffeine) की मात्रा बहुत अधिक होती है। खाने के बाद इसका सेवन करने से भोजन में मौजूद आयरन (Iron) और प्रोटीन (Protein) शरीर पूरी तरह से absorb भी नहीं कर पाता।

क्योंकि टैनिक एसिड आयरन और प्रोटीन को खत्म करता है। जिससे कि धीरे-धीरे शरीर (Body) में आयरन और प्रोटीन की कमी होने लगती है और एनीमिया (Anemia) और कमजोरी (Weakness) और मोटापा (Obesity) तथा बाल सफेद होने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है।

चाय की तासीर गर्म (Hot) होती है और चीनी के कारण यह है एसिडिक (Acidic) हो जाती है। भोजन के बाद चाय जैसे गर्म चीजें हाइपर एसिडिटी (Hyperacidity) और त्वचा के रोगों (Skin disease) को जन्म देती है। इसलिए भोजन (Food) के तुरंत बाद कभी भी चाय ना पिए।

5. नहाना – Batheing

भोजन करने के बाद नहाने के लिए कम से कम आधे घंटे (Half an hour) का जरूर इंतजार करना चाहिए। कई लोग सुबह का नाश्ता (Breakfast) नहाने से पहले करते हैं और नाश्ता करने के तुरंत बाद नहाने चले जाते हैं।

जब शरीर में हमारा भोजन पच रहा (Digetion) होता है। तो हमारे पेट में Blood Flow तेज होता है और शरीर का तापमान (Temperature) बढ़ता है। इसलिए कई बार खाना खाने (Eating) के वक्त हमें गर्मी भी लगना शुरू हो जाती है।

खाना खाने के तुरंत बाद नहाने से शरीर का तापमान (Temperature) तेजी से गिरने लगता है और साथ ही पाचन तंत्र (Digestive System) की बजाय शरीर की त्वचा और दूसरे अंगों में ब्लड फ्लो तेज हो जाता हैं। ऐसा होने पर भोजन के पचने की प्रक्रिया धीमी (Slow) हो जाती है। 

6. बहुत ज्यादा पानी पीना या ठंडा पानी पीना – Cold Water

आयुर्वेदा (Ayurveda) के हिसाब से भोजन करने के बाद पानी पी लेने से शरीर में कई तरह की बीमारियां (Diseases) पैदा होती हैं।

कई लोगों को भोजन करने के बाद बहुत सारा पानी पीने या बहुत ठंडा पानी (Chilled) पीने की आदत होती है। ज्यादा मात्रा में पानी पीना (Drinking Water) भोजन की प्रक्रिया को पूरी तरह से रोक देता है। जिससे भोजन पेट में ही धीरे-धीरे सड़ने लगता है और भोजन के पोषक तत्व (Nutrients) हमें पूरी तरीके से नहीं मिल पाते हैं।

आयुर्वेद के अनुसार भोजन पचाने वाली जठर अग्नि (Metabolic Fire) पानी पी लेने से बुझ जाती है। अपचन के कारण आंतों की खराबी, पेट में अल्सर (Ulcer), यूरिक एसिड (Uric Acid), एसिडिटी (Acidity) और कब्ज, शरीर में कमजोरी और ब्लाटिंग जैसी समस्याएं (Diseases)  होने लगती है।

इसलिए भोजन (Food) के बाद एक या दो घूंट ही पानी पिए और अगर पानी पीना हो तो भोजन के बीच में पिए। खाना खाने के बाद प्यास लगती हो, तो इसके लिए नींबू पानी (Lemon Water) पीना अच्छा होता है। भोजन के बाद फ्रीज (Fridge) का बहुत ज्यादा ठंडा पानी (Chilled)  ना पिए। क्योंकि पाचन प्रक्रिया को खराब करने के लिए यह साधारण पानी से भी दस गुना (10 times) ज्यादा हानिकारक होता है।

7. ब्रश करना – Brush Your Teeth

वैसे तो हर किसी व्यक्ति को रात को सोने से पहले ब्रश (Brushing) करके अपने दांतो की सफाई जरूर कर लेनी चाहिए।

लेकिन खाना खाने के तुरंत बाद ब्रश 9Brushing) करना हमारे दांतो के लिए हानिकारक हो सकता है।

खासकर नींबू, संतरे, और ऐसे सभी खट्टी चीजें जिनमे सिट्रिक एसिड (Citric Acid) की मात्रा अधिक होती है। उनके सेवन के बाद कुछ समय तक हमारे दांत कमजोर हो जाते हैं और ऐसे में तुरंत ब्रश कर लेने से दांतों को भारी नुकसान (Problem) हो सकता है।

इसलिए खाना खाने के बाद कम से कम 30 मिनट (Minutes) बाद ही ब्रश करना चाहिए।

8. फ्रूट्स और सलाद – Fruits- Salad

फ्रूट्स और सलाद हमारी सेहत (Health) के लिए भोजन से भी ज्यादा फायदेमंद (Useful) होते हैं। सलाद (Salad) की तासीर ठंडी होती है। इसलिए इसे हमेशा भोजन के बीच में ही या भोजन (Food) के साथ में खाना चाहिए।

भोजन खत्म होने के बाद सलाद (Salad) का सेवन करने से यह पाचन प्रक्रिया को धीमा करता है।

फलों (Fruits) में फाइबर (Fiber) की मात्रा अधिक होती है और इन्हें हमारी आंतो तक पहुंचने में 30 से 40 मिनट का समय लगता है। लेकिन भोजन के बाद फलों का सेवन करने से फलों और भोजन (Food) दोनों की ही पाचन प्रक्रिया (Digestion) गड़बड़ा जाती है और शरीर में गैस (Gastric) बनने लगती है।

इसलिए फलों का पूरा लाभ (Fruits Benefits) उठाने के लिए इन्हें भोजन से अलग किसी अन्य समय पर ही खाएं।

ऐसी कई खाए जाने वाली चीजें हैं, जो कि दिखने में तो सेहतमंद (Healthy) लगती है। लेकिन हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालती हैं और साथ ही कई बार दो अलग-अलग परवर्ती (Opposite) चीजों को एक साथ मिलाकर खाने से होने वाले केमिकल रिएक्शन (Chemical Reaction) से भी कई बीमारियां पैदा होती है।

उम्मीद करती हूँ आपके लिए ये आर्टिकल फायदेमंद सिद्ध होगा

- Advertisement -
DrSeema Guptahttps://www.ayurvedguide.com
I am an Ayurvedic Doctor, serving humanity through Ayurveda an Ancient System of Medicine from the last 21 years, by advising Ayurveda principles and healing the ailments. I follow the principle that prevention is always better than cure.

Get in Touch

Related Articles

Thyroid Diet for Weight Loss – थाइरोइड की बीमारी क्या है? इसके होने के कारण लक्षण व घरेलू उपाय

Thyroid Diet for Weight Loss - थाइरोइड की बीमारी क्या है? इसके होने के कारण लक्षण व घरेलू उपाय

Garlic – लहसुन खाने के फायदे और इसे खाने का सही तरीका

Garlic - लहसुन खाने के फायदे और इसे खाने का सही तरीका आयुर्वेद (Ayurveda) में अनेकों ग्रंथों में...

Irritable Bowel Syndrome Foods to Avoid – IBS Treatment Diet

Irritable Bowel Syndrome Foods to Avoid - IBS Treatment Diet - Symptoms of IBS Attack In this article,...

Get in Touch

40,185FansLike
1,456FollowersFollow
6,909FollowersFollow
943FollowersFollow
10,400SubscribersSubscribe

Latest Posts

Thyroid Diet for Weight Loss – थाइरोइड की बीमारी क्या है? इसके होने के कारण लक्षण व घरेलू उपाय

Thyroid Diet for Weight Loss - थाइरोइड की बीमारी क्या है? इसके होने के कारण लक्षण व घरेलू उपाय

Garlic – लहसुन खाने के फायदे और इसे खाने का सही तरीका

Garlic - लहसुन खाने के फायदे और इसे खाने का सही तरीका आयुर्वेद (Ayurveda) में अनेकों ग्रंथों में...

Irritable Bowel Syndrome Foods to Avoid – IBS Treatment Diet

Irritable Bowel Syndrome Foods to Avoid - IBS Treatment Diet - Symptoms of IBS Attack In this article,...

Stool – जरूरी लक्षण जो हमारी सेहत के बारे में हमारा मल बताता है

Stool - जरूरी लक्षण जो हमारी सेहत के बारे में हमारा मल बताता है जानते हैं एक ऐसे...

Foods to avoid in GERD – Foods not to Eat with Acid Reflux (GERD – Gastroesophageal Reflux Disease)

Foods to avoid in GERD - Foods not to Eat with Acid Reflux (GERD – Gastroesophageal Reflux Disease)