Migraine Meaning In Hindi -माइग्रेन के Head Ache को ठीक करने के घरेलू उपचार

Post Contents

- Advertisement -

Migraine Meaning In Hindi -माइग्रेन के Head Ache को ठीक करने के घरेलू उपचार

Migraine Meaning In Hindi

Migrain एक ऐसा Neurological Disorder है, जिससे Global Level पर हर सातवां व्यक्ति पीड़ित है। India में 15 करोड़ लोग Migrain की गिरफ्त में हैं।

Migraine Meaning In Hindi – Migrain का pain, commonoly पर आधे सिर में होता है, इस कारण इसे अधकपारी भी कहा जाता है। लेकिन sometimes यह पूरे सिर को भी अपनी चपेट में ले सकता है। यह 2 hours तक भी रह सकता है और 72 hours तक भी।

Migraine Causes-माइग्रेन होने के कारण

Indian Females इस बीमारी से ज्यादा पीड़ित हैं। 24 Percent पुरुषों की तुलना में 76 Percent Females माइग्रेनग्रस्त हैं। 18 से 29 age के बीच के लगभग 35 percent युवा पीड़ित हैं। लगभग 30 percent मरीज Chronic स्थिति वाले हैं। माइग्रेनग्रस्त लोगों में से,

Advertisement
  • 70 percent में मानसिक तनाव (tension),
  • 46 percent में उपवास ( fasting ),
  • 52 percent में यात्रा (journey),
  • 44 percent में नींद की गडबड़ी,
  • 13 percent में मासिक धर्म की अनियमितता (irregular menstruation),
  • 10 percent में मौसम का बदलाव (seasonal changes) दर्द का कारण बनते दिखाई देते हैं ।
  • लगभग 34 percent मरीजों में दौरे पड़ने के पीछे एक साथ कई कारण शामिल होते हैं । बढ़ती उम्र के साथ माइग्रेन का दर्द कम होता जाता है। 
  • ज्यादा मसालेदार, spicy भोजन, alcohol का ज्यादा सेवन, smoking, chocolate जैसे कुछ मीठे पदार्थ, पनीर आदि migraine के attack का कारण बन सकते हैं।
  • Females में Birth Control Pills माइग्रेन पैदा कर सकते हैं।

Migraine – क्यों होती है यह समस्या

Trigeminal Nerve में Neurochemical changes और Brain के hormones, खासतौर से Serotonin में असंतुलन की वजह से Migrain पैदा होता है। Serotonin का स्तर कम होने पर Neuropeptide का स्राव Brain के बाहरी हिस्से में पहुंच कर migrain पैदा करता है.

- Advertisement -

Migraine Meaning In Hindi

Read also, Chia Seeds in Hindi-जानें चिया सीड के बारें में, क्या हैं लाभ और नुकसान

Migraine Symptoms in Hindi-लक्षणों को पहचानें 

  • सिर के किसी भी Part में फड़कता हुआ pain होता है।
  • तेज रोशनी, smell, आवाज के प्रति अत्यधिक sensitivity होती है।
  • Head ache के साथ बार-बार मूत्र त्याग की urge होती है।
  • दिन भर बेवजह की सुस्ती, थकान रहती है।
  • Migraine के चलते कुछ लोगों में खाने की इच्छा increase हो जाती है।
  • Eyes में तेज pain होता है
  • मिचली और vomiting हो सकती है।
  • आंखों के नीचे काले घेरे (dark Circles) हो सकते
  • गुस्सा और irritation बढ़ सकता है।

Aura Symptoms-Migraine Meaning In Hindi

Migraine की पहचान Aura से की जाती है। Aura, दृष्टि संबंधी ऐसा लक्षण है, जिसमें patient को रह-रहकर आड़ी-टेढ़ी रेखाएं, रोशनी (light)  की चमकदार लकीरें और eyes के सामने काले-काले धब्बे दिखाई देते हैं।

https://youtu.be/lyGpZca34_M

Instant Migraine Relief at Home-बचकर रहें

Lifestyle का विश्लेषण (analyse) करें और जरूरी सुधार करें। Migraine से पीड़ित हैं, तो पनीर, Chocolate, Caffeine, Alcohol आदि से परहेज करें। Green Vegetables और Fruits आहार में शामिल करें। बथुआ, अंजीर, आंवला, अनार, अमरूद, Applesआदि ज्यादा लें। आंवले के अलावा अन्य खट्टे फलों से बचें। Omega 3 Fatty Acid और Vitamin B वाले आहार ज्यादा लें। दिन में 7-8 glass पानी पिएं। ज्यादा नमक वाली चीजें कम खाएं।

Home Remedies For Migraine-काम के घरेलू उपाय

- Advertisement -

वैसे तो माइग्रेन का रोगी बिल्‍कुल ठीक रहता है मगर जब इसका attack होता है तो उसकी हालत बहुत बिगड़ जाती है। एक attack से दूसरे attack के बीच भी रोगी खुद को healthy महसूस करता है, मगर सिर में थोड़ा भारीपन और नाक में रुकावट तब भी महसूस होती रहती है। आयुर्वेद की भाषा में यह रोग अनंतवात कहलाता है, यानी ऐसा दर्द जो रुक ही न रहा हो। आमतौर पर देखा गया है कि जिन लोगों को migraine होता है उन लोगों को sinusitis की दिक्‍कत भी होती है।

Instant Migraine Relief-Migraine help

1. दही, चावल और मिश्री

दही, चावल और मिश्री मिलाकर खाने सूरज निकलने से पहले खा लेने से उस सिरदर्द में आराम मिलता है जो सूरज के साथ बढ़ता और घटता है। वैसे भी दिन में दही, चावल खाने से इस रोग से राहत मिलती है।

2. गाय के शुद्ध घी

गाय के शुद्ध घी की दो चार बूंदें सुबह शाम नाक में डालने से आराम मिलता है। ध्‍यान रखें घी ताजा होना चाहिए।

Migraine Meaning In Hindi

3. अणु तैल

3. Migraine में अणु तैल नामक औषधि बहुत लाभकारी है। यह औषधीय तेल तिल के तेल और बकरी के दूध के साथ 26 औषधियों वनस्पतियों को पकाकर तैयार किया जाता है। इस तेल की 10-20 बूंदें नाक में डालकर जोर से खींचना चाहिए। इस तेल के प्रयोग से किसी प्रकार का कोई विषैला प्रभाव नहीं पड़ता।

- Advertisement -

4. केसर की कुछ पत्‍तियां, थोड़े से घी में डालकर पीसें और सूंघें।

5. नींबू को छिलके समेत पीसकर उसका पेस्‍ट बना लें और सिर पर लगायें। इससे बड़ी राहत मिलती है।

6. जूस

माइग्रेन का इलाज करने में गाजर और पालक का जूस बहुत कारगर साबित हुआ है।

  • 200 ml पालक का जूस और 300 ml गाजर का जूस मिलाकर पियें।
  • आप चुकंदर और खीरे का जूस भी पी सकते हैं।
  • आप 300 ml गाजर के जूस में 100 ml चुकंदर और 100 ml खीरे का जूस मिलाकर भी पी सकते हैं।

7. कोशिश करें इस बात का पता लगाने की कि ऐसा कौन सा मौका होता है जब दर्द होना शुरू होता है। माइग्रेन का दर्द कई वजहों से शुरू होता है जैसे गुस्‍सा, तेज light या तेज music या कोई भी ऐसी बात जो दर्द का ट्रिगर बनता है, उसकी पहचान करें और उससे बचे रहने की योजना पर काम करें।

8. माइग्रेन से लड़ने में अंगूर का जूस बड़ा काम करता है

9. नाक से कुछ दिनों तक नियमित भाप (steam inhalation) लिया जाए, तो migraine ठीक हो सकता है।

10. सिर दर्द वाले हिस्से में Pipperment oil की मालिश करने से राहत मिलती है।

Migraine Meaning In Hindi

Ayurvedic Treatment-आयुर्वेद में है इलाज

पंचकर्म (Panchkarma) के तहत शिरोधारा Therapay आश्चर्यजनक रूप से राहत पहुंचा सकती है। इसमें खास जड़ी-बूटी से तैयार काढ़ा और Oils का इस्तेमाल किया जाता है। गुनगुना काढ़ा व तेल माथे के बीचोबीच डाला जाता है। 15 से 20 मिनट की therapy से patient को राहत मिलती है। यह therapy 25 से 30 दिन चलती है। इससे पहले शरीर को cleanse करने के लिए Steam Bath समेत दूसरी therapies भी की जाती हैं।

Friends, this was all about, Weight Loss Foods-Migraine Meaning In Hindi -माइग्रेन के Head Ache को ठीक करने के घरेलू उपचार

I hope you will like this information.

Visit and Subscribe to my YouTube Channel for Health Videos at

http://bit.ly/MyChannelAyurvedGuide

Like and share the article with your loved ones, by clicking on the Social Icons given below.

- Advertisement -
DrSeema Guptahttps://www.ayurvedguide.com
I am an Ayurvedic Doctor, serving humanity through Ayurveda an Ancient System of Medicine from the last 21 years, by advising Ayurveda principles and healing the ailments. I follow the principle that prevention is always better than cure.

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Best Tea For Health – क्या आप भी पीते हैं, हानिकारक चाय कॉफी अपनाएं ये स्वस्थ ड्रिंक्स

Best Tea For Health - क्या आप भी पीते हैं, हानिकारक चाय कॉफी अपनाएं ये स्वस्थ ड्रिंक्स हम...

Gathiya Ayurvedic Treatment – Gathiya Bimari – गठिया रोग का इलाज

Gathiya Ayurvedic Treatment - Gathiya Bimari - गठिया रोग का इलाज जानते हैं आर्थराइटिस यानि गठिया के बारे...

Migraine Food Triggers – Dietary Triggers of Migraine Headaches.

Migraine Food Triggers - Dietary Triggers of Migraine Headaches. In this article, let's know, dietary triggers of migraine headaches.

Get in Touch

82,076FansLike
1,456FollowersFollow
7,100FollowersFollow
943FollowersFollow
10,700SubscribersSubscribe

Latest Posts

Best Tea For Health – क्या आप भी पीते हैं, हानिकारक चाय कॉफी अपनाएं ये स्वस्थ ड्रिंक्स

Best Tea For Health - क्या आप भी पीते हैं, हानिकारक चाय कॉफी अपनाएं ये स्वस्थ ड्रिंक्स हम...

Gathiya Ayurvedic Treatment – Gathiya Bimari – गठिया रोग का इलाज

Gathiya Ayurvedic Treatment - Gathiya Bimari - गठिया रोग का इलाज जानते हैं आर्थराइटिस यानि गठिया के बारे...

Migraine Food Triggers – Dietary Triggers of Migraine Headaches.

Migraine Food Triggers - Dietary Triggers of Migraine Headaches. In this article, let's know, dietary triggers of migraine headaches.

Low Hemoglobin – खून बढ़ाने, एनीमिया, हीमोग्लोबिन व आइरन की कमी ठीक करने के घरेलू उपाय

Low Hemoglobin - खून बढ़ाने, एनीमिया, हीमोग्लोबिन व आइरन की कमी ठीक करने के घरेलू उपाय जो भी...

Thyroid Diet for Weight Loss – थाइरोइड की बीमारी क्या है? इसके होने के कारण लक्षण व घरेलू उपाय

Thyroid Diet for Weight Loss - थाइरोइड की बीमारी क्या है? इसके होने के कारण लक्षण व घरेलू उपाय