Namak – हानिकारक सफ़ेद नमक छोड़े, स्वाद के लिए आजमाएं ये 3 सेहतमंद चीजें

Post Contents

- Advertisement -

Namak – हानिकारक सफ़ेद नमक छोड़े, और स्वाद के लिए आजमाएं ये 3 सेहतमंद चीजें

Post Contents

अक्सर ही आपने लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि नमक कम खाना चाहिए। यह सेहत के लिए हानिकारक होता है। इसके कई गंभीर नुकसान हैं वगैरा वगैरा। 

लेकिन ये बात किस हद तक सही है। नमक या सॉल्ट यानि कि सोडियम क्लोराइड (Sodium Chloride) हमारे शरीर के लिए ऐसा जरूरी केमिकल कंपाउंड है जिसके बिना हमारे शरीर में लीवर (Liver), दिल (Heart) और थायरॉइड (Thyroid) जैसे कई जरूरी अंग काम करना बंद कर सकते हैं। 

यानि कि सही मायनों में इसके बिना जीवित रह पाना बेहद मुश्किल है। 

वहीं दूसरी तरफ अगर शरीर में इसकी मात्रा बढ़ जाए तो मामूली से दिखने वाले नमक (Namak)

Advertisement
के सफेद दाने धीरे धीरे व्यक्ति की जिंदगी को खोखला कर सकते हैं। 

Side Effects

- Advertisement -

बालों का झड़ना (Hairfall), त्वचा रोग (Skin Disease), एसिडिटी Acidity), हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure), यौन कमजोरी, किडनी में समस्या (Kidney Disease), यूरिक ऐसिड (Uric Acid) और यहां तक कि हार्ट अटैक (Heart Attack) जैसे लगभग 40 से ज्यादा गंभीर रोग शरीर में नमक (Namak) की मात्रा बढ़ने की वजह से हो सकते हैं। 

हैरानी की बात तो ये है कि आज हमारे देश में 90 प्रतिशत से ज्यादा लोग अपनी रेगुलर डाइट (Diet) में नमक जरूरत से ज्यादा ही खा रहे हैं। 

हमारे भोजन में तो नमक (Namak) ज्यादा है ही लेकिन भोजन के अलावा फलों से लेकर स्नैक्स तक जीवन खाई जाने वाली चीजें आज हमारे पेट में जा रही है, उन सभी में नमक जरूर मौजूद होता है।

काफी ज्यादा संभावना है कि इस वक्त आप भी दिनभर अपने खान पान में नमक ज्यादा ही खा रहे हो पर आपको इस बात का अंदाजा भी न हो। 

- Advertisement -

सरदर्द (Headache), मोटापा (Obesity), बालों का झड़ना या शरीर में चल रही किसी भी बीमारी का मुख्य कारण कहीं न कहीं नमक भी हो सकता है। 

देखा जाए तो नमक (Namak) भी चीनी जितना ही हानिकारक होता है और कई स्थितियों में तो चीनी से भी ज्यादा पर नमक को पूरी तरह छोड़ पाना बेहद मुश्किल है, क्योंकि नमक के बिना सभी चीजें सीखीं और बेस्वाद लगने लगती है। 

ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर क्या किया जाए। कैसा हो अगर हमें कोई ऐसी चीज मिल जाए जिसका इस्तेमाल नमक की जगह पर किया जा सके। 

स्वाद में भी पूरी तरह नमक (Namak) की तरह ही हो लेकिन सेहत के नजरिए से शरीर को हानि पहुंचाने की जगह फायदे पहुंचाए। 

Namak – हानिकारक सफ़ेद नमक छोड़े, और स्वाद के लिए आजमाएं ये 3 सेहतमंद चीजें

आज इस आर्टिकल में हम बात करेंगे टेबल साल्ट (Table Salt) यानी की सफेद नमक के कुछ ऐसे हेल्दी अल्टरनेटिव (Salt Alternative) के बारे में जिनके इस्तेमाल से न सिर्फ नमक से होने वाले नुकसानों को पूरी तरह रोका जा सकता है बल्कि शरीर में मौजूद छोटी बड़ी और गंभीर बीमारियों को ठीक किया जा सकता है। 

- Advertisement -

इसके साथ ही हम जानेंगे कुछ ऐसे लक्षणों (Symptoms) के बारे में जिनके जरिए आप पता लगा सकते हैं कि आपके शरीर में नमक की मात्रा बढ़ी हुई है या सामान्य है।

लेकिन उससे पहले ये जान लेते हैं कि,

हमें रोजाना कितना नमक खाना चाहिए और जब हम नमक खाते हैं तो ये हमारे शरीर पर क्या क्या प्रभाव डालता है। 

नमक शरीर में सोडियम (Sodium) का सबसे मुख्य स्त्रोत है। सोडियम एक ऐसा तत्व है जिसके बिना हम जीवित नहीं रह सकते। 

शरीर में ज्यादातर सोडियम हमारे खून और बॉडी सेल्स (Body Cells) में पाया जाता है। ये शरीर में फ्लूइड यानि की तरल का बैलेंस बनाए रखने के साथ साथ हमारी नर्व्स (Nerves) और मसल्स (Muscles) के प्रॉपर फंक्शनिंग के लिए अनिवार्य होता है। 

Hyponatremia

अगर शरीर में इसकी कमी हो जाए तो इससे Hyponatremia नामक गंभीर बीमारी भी हो सकती है।

  • इसके चलते सिर और शरीर में दर्द, बार बार थकान होना, चक्कर आना और बॉडी में वीकनेस महसूस होने लगती है। 
  • इसके अलावा कई स्थितियों में सोडियम 9Sodium) की कमी हमारी किडनियों को भी खराब कर सकती है। 
  • इससे दिमागी संतुलन भी खराब हो सकता है और व्यक्ति कोमा में भी जा सकता है 

लेकिन जब नमक (Namak) हमारे लिए इतना जरूरी है तो ये हानिकारक क्यों माना जाता है। 

इसकी तीन सबसे मुख्य वजहें हैं। 

1. पहली और सबसे बड़ी वजह है हमारा खान पान। 

इसमें पहले से ही सोडियम काफी मौजूद होता है और हम दिन भर में जाने अनजाने इसे और ज्यादा खाते ही रहते हैं। 

2. दूसरी वजह है, कैमिकल और रिफाइनिंग प्रोसेस से बना सफेद नमक का इस्तेमाल 

जो कि हमारे शरीर के लिए सबसे ज्यादा हानिकारक होता है।

3. तीसरी वजह है हमारी रेगुलर डाइट में उन पोषक तत्वों की कमी होना

जो हमारे शरीर में बढ़े हुए सोडियम या नमक को घटाने का काम करते हैं। 

आमतौर पर एक दिन में 2 से 3 ग्राम नमक खाना सही होता है, वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के अनुसार एक व्यक्ति को दिन भर में 5 ग्राम से ज्यादा नमक नहीं खाना चाहिए। 

फरवरी 2019 में की गई एक स्टडी से ये पता चला है कि भारत (India) में रहने वाले लोग अपनी 24 घंटे की डाइट में 11 से लेकर 15 ग्राम तक नमक खा जाते हैं और लगभग सभी लोग इस बात से पूरी तरह अनजान हैं। 

Weight loss करना है तो खाएं इन 3 आटों से बनी रोटी, बिना Gym जाए जल्द दिखेगा फर्क

कार्डियोवस्कुलर डिजीज (Cardiovascular Disease) यानी कि दिल से जुड़े रोग ऐसे रोग हैं जिनसे हर साल हमारे देश में लगभग 23 लाख लोगों की मौत हो जाती है और इन 23 लाख में से 30 प्रतिशत लोग हाई ब्लडप्रेशर (High Blood Oressure) के मरीज होते हैं और ये हाई ब्लड प्रेशर दिन भर में खाए गए जरूरत से ज्यादा नमक (Namak) का ही परिणाम है। 

क्या आप ये जानते हैं कि आप रोजाना जितना नमक खा रहे हैं वो 5 ग्राम से कम है या ज्यादा। 

अगर आपको इस सवाल का जवाब नहीं पता तो इस आर्टिकल में आगे आपको पता चल जाएगा। 

ज्यादा नमक खाने के नुकसान। 

  1. आयुर्वेद (Ayurveda) के नजरिए से अगर देखा जाए तो ज्यादा नमक खाने से धीरे धीरे शरीर में पित्त की मात्रा बढ़ने लगती है जिससे हाइपर एसिडिटी (Hyperacidity) जैसी गंभीर समस्या होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है। 
  • शरीर में बढ़े हुए पित्त (Pitta) की वजह से समय से पहले बाल सफेद होने लगते हैं और आंखें भी कमजोर (Eyesight) हो जाती है। 
  • ज्यादा नमक हमारे खून को एसिडिक बनाता है जिससे सोरायसिस (Psoriasis), या खुजली (Skin Itch) जैसे कई तरह के त्वचा रोग हो सकते हैं। 
  • बढ़ा हुआ नमक हमारी हड्डियों से कैल्शियम (Calcium) को धीरे धीरे घटाने लगता है जिससे समय के साथ साथ हमारी हड्डियां कमजोर पड़ने लगती है और आगे चलकर इसकी वजह से व्यक्ति आस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) जैसी गंभीर बीमारी से भी ग्रसित हो सकता है। 
  • ज्यादा नमक खाने वाले लोगों को पसीना (Sweating) ज्यादा निकलता है। पानी शरीर से जल्दी बाहर निकलने लगता है जिससे पेशाब (Urine) भी जल्दी जल्दी आती है और प्यास भी ज्यादा लगती है। 
  • बॉडी की अंदरूनी गर्मी बढ़ी हुई रहती है और अक्सर पेट में जलन होने की शिकायत भी बनी रहती है। 
  • नमक (Namak) का बुरा असर हमारी किडनियों पर भी पड़ता है और साथ ही ये लीवर के लिए भी हानिकारक होता है 
  • लेकिन ज्यादा नमक खाने का सबसे बुरा परिणाम होता है, हाई ब्लड प्रेशर 

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से दिल से जुड़े कई गंभीर रोग उत्पन हो सकते हैं। कई लोगों को अक्सर अपने बढ़े हुए ब्लडप्रेशर का अंदाजा भी नहीं होता और फिर अचानक एक दिन वो हार्ट अटैक का शिकार बन जाते हैं। 

जब हम मीठा (Sugar) ज्यादा खा रहे होते हैं तो हमें पता होता है कि हम ऐसे शुगर इनटेक कर रहे हैं जिसे डायबिटीज (Diabetes) और मोटापे का खतरा है। 

लेकिन नमक के मामले में हम इस बात को पूरी तरह नजरअंदाज कर देते हैं। 

क्या आप जानते हैं चाहे आप अपने भोजन में ऊपर से नमक न डालें फिर भी आप दिन भर में पांच ग्राम से ज्यादा नमक खा ही लेते हैं। 

हम ज्यादा नमक कैसे खा लेते हैं। 

अगर हम अपने रोजाना खाए जाने वाले भोजन पर नजर डालें तो आमतौर पर हमारी थाली में दो तीन चीजें होती हैं, दाल, रोटी और सब्जी।

सुबह और शाम के साधारण भोजन में हमारी शरीर की जरूरत के मुताबिक नमक की मात्रा पर्याप्त होती है लेकिन रोटी, सब्जी, दाल, चावल और सलाद के अलावा हम भोजन में कई बार कुछ एक्स्ट्रा चीजें भी खाते हैं। 

जोकि बॉडी में सोडियम की मात्रा को बढ़ाने का काम करती है। 

उदाहरण के लिए अचार। 

क्या आप जानते हैं अचार की एक सर्विंग में लगभग 500 से 1000 mg तक का सोडियम हो सकता है यानि कि एक ही बार में लगभग एक ग्राम एक्स्ट्रा नमक। 

इसी तरह पापड़, नमकीन, रायता या छाछ, सलाद पर ऊपर से डाला गया नमक (Namak), नमकीन सेव और चटनी आदि भी भोजन में अतिरिक्त नमक को बढ़ाने का काम करते हैं 

लेकिन अगर आपकी डाइट में हरी सब्जियां और पोटैशियम रिच फ्रूट्स (Potassium Rich Food) भी शामिल हैं तो भोजन के साथ खाया गया एक्स्ट्रा नमक हमारा शरीर आसानी से बाहर निकाल देता है। 

देखा जाए तो आमतौर पर हमारे शरीर में नमक का ओवरडोज बाहर के जंक फूड और पैकेट में मिलने वाली चीजों की वजह से ही होता है। 

शाम के समय खाने वाली चाट में नमक की मात्रा इतनी अधिक होती है कि एक बार में ही हमारे शरीर में सोडियम की मात्रा को दुगनी रफ्तार से बढ़ा देता है। 

इसके अलावा हर तरह के स्ट्रीट फूड (Street Food) और डीप फ्राइड स्नैक्स (Deep Fried Snacks) में भी नमक काफी ज्यादा होता है। 

पैकेट में मिलने वाली ब्रेड, चिप्स, सॉस, चीज फ्रूट जूस और बिस्किट जैसी हर खाई जाने वाली चीजों में नमक (Namak) भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। 

चाहे दिन में खाए गए नमकीन, ड्रायफ्रूट्स (Dry Fruits) या नट्स हों या खाने के बाद खाई गई पाचन की गोली। 

नमक का स्वाद हमारी जीभ पर इस तरह चढ़ गया है कि हमें दिन भर में खाए गए जरूरत से ज्यादा नमक का अंदाजा ही नहीं होता। 

कई लोग फलों के रस में भी ऊपर से नमक डाल देते हैं जिससे उस जूस के पोषक तत्व भी कम हो जाते हैं और साथ ही बॉडी में सोडियम भी बढ़ता है। 

वहीं कुछ लोगों की खाने को चखे बिना ही पहले से नमक डाल देना एक आदत बन चुकी है। 

इसके अलावा शादियों और त्योहारों पर भी मीठा तथा नमकीन बहुत अधिक मात्रा में खाया जाता है। 

 आप में से कई लोग इस वक्त यह सोच रहे होंगे कि अगर इतनी सारी चीजों में नमक ज्यादा है तो आखिर क्या खाया जाए। 

दरअसल सब कुछ खाने के बाद भी शरीर में नमक को बढ़ने से रोका जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि अपनी डाइट में पोटेशियम रिच फूड को शामिल किया जाए। 

चूंकि पोटेशियम एक ऐसा तत्व है जो कि हमारे शरीर में सोडियम का बैलेंस बनाए रखने का काम करता है। जितना ज्यादा पोटेशियम हम खाएंगे उतना ज्यादा नमक शरीर से बाहर निकलेगा। 

अगर आपकी डाइट में पोटैशियम वाली चीजों की कमी है तो कम नमक खाने के बावजूद भी आपके शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है। 

इसलिए चाहे आप नमक ज्यादा खाएं या कम। अपने रोजाना खान पान में पोटैशियम वाली चीजों को जरूर शामिल करें। 

Potassium Rich Food

फलों की अगर बात की जाए तो केले, संतरा और खरबूज आदि में प्रचुर मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है। 

सब्जियों में स्वीट पटेटो, आलू, ब्रोकली और चुकंदर में भी काफी पोटेशियम मौजूद होता है। 

बॉडी में सोडियम का सही बैलेंस बनाए रखने के लिए इनमें से ज्यादा से ज्यादा चीजों को अपनी डाइट में शामिल करें।

अब तक हमने जाना कि हम अनजाने में कैसे ज्यादा नमक खा लेते हैं और कौन सी चीजें खाने से शरीर में बढ़े हुए सोडियम की मात्रा को घटाया जा सकता है। 

लेकिन सारी बातों का ध्यान रखने के अलावा हमें इस बात पर भी ध्यान देना चाहिए कि हम नमक किस प्रकार का खा रहे हैं। 

Table Salt

सफेद नमक टेबल सॉल्ट (Table Salt) या कॉमन सॉल्ट एक ऐसा नमक है जो आमतौर पर सबसे ज्यादा खाया जाता है और सबसे ज्यादा हानिकारक भी होता है।

हानिकारक इसलिए क्योंकि इस नमक को ज्यादा सफेद और शुद्ध बनाने के लिए कैमिकल्स और रिफाइनिंग प्रोसेस का इस्तेमाल होता है। 

रिफाइनिंग की वजह से इसमें मौजूद आधी से ज्यादा जरूरी पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं जिसमें आयोडीन (Iodine) भी शामिल है लेकिन फिर भी टीवी पर दिखाए जाने वाले एडवर्टिजमेंट में इसे आयोडीन युक्त बताकर सस्ते दामों में बेचा जाता है। 

पोषक तत्वों की कमी के कारण सफेद नमक लाभदायक तो नहीं बल्कि नुकसान दायक हो जाता है। इससे हमारा मेटाबोलिज्म (Metabolism), थाइरोइड ग्रंथि (Thyroid Gland) पर बुरा असर पड़ता है। 

सफेद नमक ही वो नमक है जो मोटापा बढ़ाने, हड्डियों को कमजोर बनाने, ब्लड प्रेशर बढ़ने पर दिल से जुड़ी दूसरी बीमारियों का खतरा बढ़ा देता है। 

ऐसे में जरूरी है कि जल्द से जल्द सफेद नमक को छोड़कर दूसरे नमक का इस्तमाल शुरू किया जाए। 

Salt Alternative

हम सफेद नमक की जगह तीन अलग अलग प्रकार के नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

1. सैंधव नमक – Saindhava Lavana

आयुर्वेद (Ayurveda) के नजरिए से अगर देखा जाए तो सैंधव नमक (Namak) भोजन में इस्तेमाल करने के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। 

इसमें आयोडीन ( Iodine) के साथ साथ पोटेशियम (Potassium), आयरन (Iron), जिंक (Zinc) और मैग्नीशियम जैसे लगभग 80 से ज्यादा एलिमेंट्स पाए जाते हैं। 

गले और पेट से जुड़े रोगों को ठीक करने के लिए कारगर है और साथ ही जिन लोगों को शरीर में कमजोरी या मसल्स में अकड़न (Muscle Cramp) होती रहती है उन लोगों को सेंधा नमक का जरूर इस्तेमाल करना चाहिए। 

ये हमारे पाचन (Digestive System) को बेहतर बनाता है मेटाबोलिज्म (Metabolism) को बूस्ट करता है और हमारी इम्यूनिटी (Immunity) को स्ट्रॉन्ग बनाता है। 

Normal Sugar Level – Diabetes को कंट्रोल करने के 3 असरदार नुस्खे

2. Black Salt

सेंधा नमक के अलावा काला नमक भी हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है, लेकिन इसमें सल्फर (Sulfur) की अधिकता के कारण इसका स्वाद साधारण नमक से थोड़ा अलग होता है। 

सल्फर हमारे पाचन और लिवर के लिए बेहद उपयोगी है। इसलिए काले नमक को किडनी और पेट की सफाई करने वाला नमक भी कहा जाता है। 

ये हमारी बॉडी में एक डिटॉक्स (Detox) एजेंट की तरह काम करता है। इससे पाचन से जुड़े रोग जैसे कि गैस कब्ज और Bloating की समस्या नहीं होती।

 जिन लोगों को त्वचा से जुड़े रोग होते रहते हैं या जिनके शरीर में खून की कमी है उन्हें भोजन में हमेशा काले नमक का इस्तेमाल करना चाहिए।

3. Pink Himalayan Salt

 हिमालयन पिंक सॉल्ट में सोडियम की मात्रा आम सफेद नमक (Namak) के मुकाबले कम होती है। देखा जाए तो ये भी एक प्रकार का सेंधा नमक ही है। 

चूंकि हिमालय पर्वत पर पाया जाता है हिमालयन पिंक सॉल्ट (Himalayan salt) के कमाल के फायदों के कारण आजकल ज्यादातर लोग सफेद नमक की जगह इसे ही इस्तमाल कर रहे हैं। 

पिंक सॉल्ट (pink salt )में 80 से ज्यादा मिनरल्स मौजूद होते हैं जो कि खाने में स्वाद बढ़ाने के साथ साथ हमारी सेहत को भी फायदा पहुंचाते हैं। 

ये बॉडी की पीएच लेवल (pH Level) को बैलेंस करता है और साथ ही हमारी दिमागी शक्ति को भी बढ़ाता है। 

आर्टिकल में बताए गए तीनों ही नमक आपको मार्केट में आसानी से मिल जाएंगे और अगर आप चाहें तो इन्हें आप ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। 

Conclusion

आज के इस आर्टिकल में बताई गई सभी बातों पर अगर नज़र डाली जाए तो हमें पता चलता है कि हमें नमक (Namak) के सेवन पर भी ध्यान देना चाहिए क्योंकि नमक भी चीनी जितना ही हानिकारक होता है। 

हम नमक ज्यादा खाएं या कम बॉडी में सोडियम का सही बैलेंस बनाए रखने के लिए हमारी डाइट में पोटेशियम की मात्रा अधिक होनी चाहिए। 

इसके अलावा हमें धीरे धीरे कम नमक खाने की आदत डालना चाहिए ताकि भविष्य में इसके गंभीर नुकसान से बचा जा सके। 

साथ ही सफ़ेद नमक का इस्तमाल जल्द से जल्द बंद करके उसकी जगह पर दूसरे हेल्दी नमक का यूज शुरू कर देना चाहिए। 

उम्मीद करती हूँ आपके लिए ये आर्टिकल फायदेमंद सिद्ध होगा

- Advertisement -
DrSeema Guptahttps://www.ayurvedguide.com
I am an Ayurvedic Doctor, serving humanity through Ayurveda an Ancient System of Medicine from the last 21 years, by advising Ayurveda principles and healing the ailments. I follow the principle that prevention is always better than cure.

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

Gastritis Home Remedy – पेट की समस्याओ का घरेलू इलाज

Gastritis Home Remedy  - पेट की समस्याओ का घरेलू इलाज Gastritis Home Remedy - अगर आपका खाना (Food)...

Tooth Pain Remedies – दातों में दर्द की और सडन से छुटकारा पाए

Tooth Pain Remedies  - दातों में दर्द की और सडन से छुटकारा पाए टूथ डीके (Tooth Decay), टूथ...

PCOD Diet – PCOD / PCOS के लिए सबसे बेहतर Diet Plan पूरा दिन क्या खाए क्या नहीं?

PCOD Diet – PCOD / PCOS के लिए सबसे बेहतर Diet Plan पूरा दिन क्या खाए क्या नहीं?

Get in Touch

40,185FansLike
1,456FollowersFollow
6,760FollowersFollow
943FollowersFollow
9,930SubscribersSubscribe

Latest Posts

Gastritis Home Remedy – पेट की समस्याओ का घरेलू इलाज

Gastritis Home Remedy  - पेट की समस्याओ का घरेलू इलाज Gastritis Home Remedy - अगर आपका खाना (Food)...

Tooth Pain Remedies – दातों में दर्द की और सडन से छुटकारा पाए

Tooth Pain Remedies  - दातों में दर्द की और सडन से छुटकारा पाए टूथ डीके (Tooth Decay), टूथ...

PCOD Diet – PCOD / PCOS के लिए सबसे बेहतर Diet Plan पूरा दिन क्या खाए क्या नहीं?

PCOD Diet – PCOD / PCOS के लिए सबसे बेहतर Diet Plan पूरा दिन क्या खाए क्या नहीं?

Acid Reflux – GERD Definition Heartburn – How to cure acidity permanently

Acid Reflux - GERD Definition Heartburn - How to cure acidity permanently Acid Reflux/GERD - Do you want...

Stretch Marks Treatment – शरीर पर मौजूद स्ट्रेच मार्क्स कम करने के लिए असरदार घरेलू उपाय

Stretch Marks Treatment - शरीर पर मौजूद स्ट्रेच मार्क्स कम करने के लिए असरदार घरेलू उपाय Stretch Marks...